यह IAS अधिकारी कभी भी-कहीं भी सिर के बल खड़ा हो जाता है, आख़िर क्यों ?

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद 19 अगस्त, 2019 (युवाPRESS)। भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के एक अधिकारी का कर्तव्य कुशल प्रशासन के जरिए शासन की योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुँचाना होता है, परंतु देश में एक आईएएस अधिकारी ऐसा भी है, जो जनता की सेवा करने के साथ-साथ भारतीय योग पद्धति में महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले शीर्षासन के लिए विख्यात है। यह आईएएस अधिकारी कभी भी-कहीं भी बिना किसी संकोच के किसी भी समारोह में सिर के बल खड़ा हो जाता है।

इस अनोखे आईएएस अधिकारी का नाम है दिनश चंद्र सिंह। उत्तर प्रदेश प्रशासन में तेजतर्रार अधिकारी के रूप में जाने जाने वाले दिनेश चंद्र सिंह वर्तमान में गाज़ियाबाद महानगर पालिका आयुक्त (MUNICIPAL COMMISSIONER) हैं। हाल ही में गाज़ियाबाद में जब काँवड़ियों को स्वास्थ्य व पर्यावरण संरक्षण की सीख देने के लिए एक व्याख्यान कार्यक्रम आयोजित हुआ, तो यहाँ भी दिनेश चंद्र सिंह ने नि:संकोच होकर शीर्षासन किया। उन्हें सिर के बल खड़ा देख वहाँ मौजूद मुख्य निर्वाचन आयुक्त भी दंग रह गए। व्याख्यान का विषय ‘आम लोग कैसे खुश रह सकते हैं’ था। दिनेश चंद्र सिंह स्वयं को तनावमुक्त और स्वस्थ बनाए रखने के लिए अक्सर शीर्षासन करते हैं। वे कहते हैं कि वे शीर्षासन के द्वारा लोगों को योग करने की प्रेरणा देने का प्रयास करते हैं। इससे पहले भी जब दिनेश चंद्र सिंह गाज़ियाबाद की महापौर (MAYOR) आशा शर्मा के साथ मंदिर की व्यवस्था देखने गए, तो वहाँ भी 4 से 5 मिनट सिर के बल खड़े रहे। गत 21 जून को मनाए गए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर तो सिंह ने योग शिक्षक को पटखनी देते हुए लगातार 15 मिनट तक शीर्षासन कर ख़ूब तालियाँ बँटोरी थीं।

गाज़ियाबाद महानगर पालिका आयुक्त दिनेश चंद्र सिंह अपनी शीर्षासन आदत के बारे में कहते हैं, ‘व्यस्तता बहुत रहती है, परंतु इसी दौरान स्वयं को स्ट्रेसलेस और हेल्दी भी रखना है, तो जब भी मौका मिलता है, शीर्षासन कर लेता हूँ।’ वैसे योग करना उनकी दिनचर्या का हिस्सा है, परंतु शीर्षासन उनका मनपसंद योग है। अब लगातार एक घण्टे शीर्षासन करके दिनेश चंद्र सिंह अपना नाम लिम्का बुक और गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड में दर्ज कराना चाहते हैं।

आईएएस अधिकारी होने के नाते दिनेश चंद्र सिंह की अलग-अलग जगहों पर नियुक्तियाँ होती रहती हैं, परंतु अपने काम के साथ-साथ वे शीर्षासन के चलते सुर्खियों में बने रहते हैं। अलीगढ़ में तो एक हंगामा रोकने के लिए वे सिर के बल खड़े हो गए थे। 50 वर्षीय सिंह की सेहत और योगाभ्यास को देख कर लोग दाँतों तले उंगली दबाते हैं।

You may have missed