विश्व पर्यावरण दिवस 2021

Written by

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व पर्यावरण दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में Video conferencing के जरिए हिस्सा लिया। इस दौरान पीएम ने Ethanol को 21वीं सदी के भारत की प्रथमिकता बताया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम में ‘भारत में इथेनॉल मिश्रण 2020-2025 के लिए Road Map पर विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट’ जारी की।

अपने संबोधन से पहले प्रधानमंत्री ने देश के अलग-अलग राज्यों के किसानों से इथेनॉल पर भी बात की। इस दौरान Union Environment Minister Prakash Javadekar, Union Petroleum Transport Minister Dharmendra Pradhan कार्यक्रम में मौजूद रहे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज से 7-8 साल पहले भारत में Ethanol पर चर्चा दुर्लभ थी, लेकिन अब Ethanol भारत की 21वीं सदी की प्राथमिकताओं से जुड़ गया है। यह पर्यावरण के साथ-साथ किसानों के जीवन की भी मदद कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने 2025 तक पेट्रोल में 20 % Ethanol Blending को पूरा करने का संकल्प लिया है। 2014 तक औसतन सिर्फ 1-1.5 फीसदी एथेनॉल ब्लेंड किया जा रहा था और आज यह करीब 8.5 फीसदी पर पहुंच गया है।

बता दें कि इस वर्ष के कार्यक्रम का विषय ‘बेहतर पर्यावरण के लिए जैव ईंधन को बढ़ावा देना था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि Climate change की वजह से जो चुनौतियां सामने आ रही हैं, भारत उनके प्रति जागरूक भी है और सक्रियता से काम भी कर रहा है। उन्होंने कहा 6-7 साल में Renewable Energy की हमारी क्षमता में 250 % से अधिक की बढ़ोतरी हुई है।

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने पुणे में तीन स्थानों पर ई 100 के वितरण स्टेशनों की एक पायलट परियोजना का भी शुभारंभ किया। यह कार्यक्रम Petroleum एवं Ministry of Natural Gas और Environment, Forest और Ministry of Climate Change द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया था।

World Environment Day मनाने के क्रम में भारत सरकार, Oil Companies को 1 April, 2023 से Ethanol Blended Gasoline को इथेनॉल की 20 प्रतिशत तक की प्रतिशतता के साथ बेचने और उच्च इथेनॉल मिश्रणों ई-12 और ई-15 से संबंधित बीआईएस विनिर्देश के बारे में निर्देश देते हुए ई-20 अधिसूचना जारी कर रही है।

Article Categories:
News

Comments are closed.

Shares