AI तकनीक से शुरुआती दौर में ही Diagnose होगा Cancer

Written by
Cancer Diagnose

भारतीय वैज्ञानिकों ने एक ऐसी तकनीक ईजाद की है, जिसकी मदद से शुरुआती दौर में ही Cancer Diagnose किया जा सकेगा। बता दें कि यह एक AI(Artificial Intelligence) तकनीक है जो कैंसर के इलाज में बेहद कारगर साबित हो सकती है। खास बात है कि यह तकनीक पूरी तरह से भारतीय है और Indian Institute of Science Education and Research (IISER), कलकत्ता और Indian Institute of Technology (IIT), कानपुर के वैज्ञानिकों ने मिलकर इस तकनीक को ईजाद किया है।

IISER कोलकाता के रिसर्चर सब्यसाची मुखोपाध्याय ने द हिंदू से बातचीत में बताया कि इस रिसर्च से संबंधित पेपर बायोमेडिकल ऑप्टिक्स में पब्लिश हुआ है। इस तकनीक की मदद से कैंसर का 95 फीसदी मामलों में शुरुआती दौर में ही पता लगाया जा सकेगा।

कैसे काम करती है ये तकनीक

रिसर्च के मुताबिक, इस तकनीक में रिसर्चरों ने AI बेस्ड एक Algorithms डेवलेप की है। जिसमें एक लाइट कैंसर टिश्यू पर डाली जाती है, यदि टिश्यू के साइज में थोड़ा बहुत भी बदलाव आता है तो वह लाइट की Scattering से पता लगाया जा सकेगा। इस तकनीक में Hidden Markov Model (HMM) और Support Vector Machine (SVM) Algorithms का इस्तेमाल किया गया है।

इस तकनीक को इंसानों, जानवरों और पेड़ों पर भी इस्तेमाल किया जा चुका है। फिलहाल इस तकनीक पर अभी और रिसर्च की जा रही है। उम्मीद की जा रही है कि आने वाले वक्त में यह तकनीक कैंसर के इलाज में बेहद कारगर साबित होगी।

Article Tags:
· · · · ·
Article Categories:
Science

Leave a Reply

Shares