मोदी से कम नहीं कोहली ! POK में घुसे बिना ही कर डाली ‘बर्मिंघम स्ट्राइक’ !

Written by

* भारत ने ‘रण छोड़’ कर पाकिस्तान का कर दिया ‘संहार’ ?

* अब पाकिस्तान का सेमीफाइनल में पहुँचना अत्यंत कठिन

विश्लेषण : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद, 1 जुलाई, 2019 (YUVAPRESS)। पाकिस्तान को 29 सितम्बर, 2016 और 26 फरवरी, 2019 के बाद अब 30 जून, 2019 हमेशा के लिए याद रह जाएगी, क्योंकि यह वह दिन था, जब भारत ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में घुसे बिना ही पाकिस्तान पर कर डाली तीसरी स्ट्राइक। इसे बर्मिंघम स्ट्राइक कहा जा सकता है। इससे पहले 26 फरवरी, 2019 को भारतीय वायुसेना की ओर से की गई एयर स्ट्राइक को बालाकोट एयर स्ट्राइक कहा जाता है, जबकि 29 सितम्बर, 2016 को भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की थी।

आप सोच रहे होंगे कि हम किस स्ट्राइक की बात कर रहे हैं ? हम बात कर रहे हैं आईसीसी विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट 2019 में रविवार को इंग्लैण्ड के बर्मिंघम मैदान पर खेले गए भारत-इंग्लैण्ड लीग मैच की, जिसमें टीम इंडिया को 31 रनों से हार का सामना करना पड़ा। वैसे यह मुक़ाबला भारत और इंग्लैण्ड के बीच था, परंतु इस पर नज़रें भारत से अधिक पाकिस्तान के करोड़ों क्रिकेट प्रेमियों की थी।

14 अगस्त, 1947 को आज़ाद हुए पाकिस्तान ने रण से लेकर मैदान तक किसी भी मुक़ाबले में कभी भारत की जीत की दुआ नहीं की थी, परंतु 72 वर्षों के इतिहास में 30 जून, 2019 वह पहला दिन था, जब 20 करोड़ से अधिक पाकिस्तानी यह दुआ कर रहे थे कि बर्मिंघम मैच में भारत इंग्लैण्ड को परास्त कर दे, परंतु टीम इंडिया इंग्लैण्ड के विशाल स्कोर के सामने बौनी साबित हुई और उप कप्तान रोहित शर्मा की शतकीय व कप्तान विराट कोहली की अर्ध शतकीय पारी के बावजूद यह मैच हार गई।

मोदी से महान कोहली ?

बर्मिंघम में इंग्लैण्ड से हार के समय क्रीज़ पर नाबाद रहे केदार जाधव व महेन्द्र सिंह धोनी।

इंग्लैण्ड के दिए 337 रनों के लक्ष्य का पीछा करते-करते भारत के वर्ल्ड कप 2011 विजेता टीम के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी जैसे धुरंधर ने अंतिम ओवरों में हथियार डाल दिए, तब भारत में जहाँ एक ओर यह चर्चा आरंभ हो गई कि टीम इंडिया जान-बूझ कर इंग्लैण्ड से मैच जीतना नहीं चाहती, तो उधर पाकिस्तानी फैन्स तो यहाँ तक कह गए कि पाकिस्तान के विरुद्ध षड्यंत्र के तहत भारत यह मैच हार गया। यदि वास्तव में ऐसा ही है, तो फिर टीम इंडिया और उसके कप्तान विराट कोहली तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी महान कहलाएँगे। मोदी ने उरी, पठानकोट और पुलवामा आतंकी हमलों का प्रतिशोध लेने के लिए भारतीय सेना व वायुसेना के ज़रिए पाकिस्तान में घुस कर सर्जिकल स्ट्राइक व एयर स्ट्राइक करवाई थी, जबकि कोहली न तो पीओके या पाकिस्तान में घुसे बिना ही नहीं, अपितु मैदान पर पाकिस्तान को परास्त किए बिना ही वर्ल्ड कप 2019 में पाकिस्तान की सर्जिकल स्ट्राइक कर डाली। भारत की हार के साथ ही पाकिस्तान के लिए सेमीफाइनल में पहुँचने के लगभग सभी दरवाज़े बंद हो गए हैं।

भारत ने कैसे बिगाड़ा पाक का खेल ?

बर्मिंघम में इंग्लैण्ड के विरुद्ध मैच के दौरान टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली।

भारत ने रविवार का मैच हार कर पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की पहली सर्जिकल स्ट्राइक पॉइंट टेबल में की। भारत-इंग्लैण्ड मैच से पहले पॉइंट टेबल में पाकिस्तान 9 अंकों के साथ चौथे, जबकि इंग्लैण्ड 8 अंकों के साथ पाँचवें स्थान पर था। रविवार को भारत की हार के साथ ही इंग्लैण्ड 10 अंकों के साथ पाकिस्तान से आगे निकल कर चौथे स्थान पर आ गया और पाकिस्तान पाँचवें स्थान पर गिर गया। इसके साथ ही पाकिस्तान के लिए सेमीफाइनल में पहुँचने के लिए शीर्ष 4 टीमों में जगह बनाने की राह अत्यंत कठिन हो गई।

आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 की अद्यतन अंक सारिणी।

पाकिस्तान का अब एक ही लीग मैच शेष है, जो बांग्लादेश के विरुद्ध है। यदि पाकिस्तान बांग्लादेश से जीत भी जाएगा, तब भी उसके 11 अंक तो हो जाएँगे, परंतु सेमीफाइनल में पहुँचना फाइनल नहीं होगा, क्योंकि दूसरी तरफ भारत, न्यूज़ीलैण्ड और इंग्लैण्ड भी हैं, जो शीर्ष 4 टीमों में स्थान पाने की जद्दोजहद में हैं। इनमें भारत के 2 मैच बाकी है। यदि भारत 1 मैच भी जीत जाएगा, तब भी वह 13 अंकों के साथ सेमीफाइनल में पहुँच जाएगा। न्यूज़ीलैण्ड-इंग्लैण्ड का 1-1 मैच बाकी है, जो उनके बीच ही है। यदि न्यूज़ीलैण्ड जीता, तो 13 अंकों के साथ और इंग्लैण्ड जीता, तो 12 अंकों के साथ टॉप 4 टीमों में जगह बना लेगा। रही बात पाकिस्तान की, तो उसका मात्र 1 मैच बाकी है। पाकिस्तान यदि बांग्लादेश को हरा भी देता है, तो भी उसके अंक 11 ही हो पाएँगे। कुल मिला कर सेमी फाइनल में जगह बनाने की सबसे आसान राह टीम इंडिया की है, जबकि इंग्लैण्ड से हार कर टीम इंडिया ने पाकिस्तान के लिए सेमीफाइनल में जगह बनाने की राह अत्यंत कठिन कर दी है। पाकिस्तान को न केवल बांग्लादेश को बड़े अंतर से हराना होगा, अपितु उसे भारत-बांग्लादेश, भारत-श्रीलंका तथा न्यूज़ीलैण्ड-इंग्लैण्ड मुक़ाबलों पर भी नज़र रखनी होगी। इतना ही नहीं, रनरेट के मामले में भी पाकिस्तान -0.79 के साथ सबसे बुरी स्थिति में है। सब चीजें पाकिस्तान के अनुकूल घटें, तो भी अंतत: रन रेट उसे सेमीफाइनल में पहुँचने से रोक देगा। इतना ही नहीं, पाकिस्तान के लिए श्रीलंका भी चुनौती बन कर उभर सकता है, क्योंकि उसके भी अभी दो मैच बाकी हैं। यदि वह दोनों जीत जाएगा, तो पॉइंट टेबल में उसके अंक 10 हो जाएँगे। ऐसे में जुलाई का पहला सप्ताह वर्ल्ड कप 2019 के लिए काफी उतार-चढ़ाव भरा रहने वाला है।

Article Categories:
News · Sports · Sports & Health

Leave a Reply

Shares