डायबिटीज से रहना है दूर तो Social बनें !

Written by
Diabetes

हाल ही में हुई एक रिसर्च में पता चला है कि जो लोग सामाजिक (Social) होते हैं और लोगों के साथ घुलते-मिलते हैं, उन्हें डायबिटीज का खतरा काफी हद तक कम होता है। रिसर्च के अनुसार, सामाजिकता हमें शारीरिक और मानसिक तौर पर स्वस्थ रहने में मदद करती है। बता दें कि नीदरलैंड की मास्ट्रिच यूनिवर्सिटी ने अपनी एक रिसर्च में यह दावा किया है।

Diabetes

‘मेडिकल न्यूज टुडे’ में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक जो लोग दोस्त ज्यादा बनाते हैं, उनमें डायबिटीज टाइप-2 का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। गौरतलब है कि कई रिसर्च में पता चला है कि आजकल इंसान अकेलेपन का शिकार है, जिस कारण कई बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। अब मास्ट्रिच यूनिवर्सिटी की ताजा रिसर्च ने भी इस बात को सिद्ध कर दिया है। रिसर्च के मुताबिक सामाजिकता ना सिर्फ डायबिटीज को दूर रखने में मदद करती है, बल्कि डायबिटीज से पीड़ित लोगों के शुगर लेवल को दुरस्त रखने में भी मदद करती है।

अपनी रिसर्च में यूनिवर्सिटी ने करीब 1623 लोगों पर इसका अध्ययन किया। इन लोगों में से 430 लोग जहां डायबिटीज के हाई रिस्क पर थे, वहीं 111 लोग डायबिटीज से हाल ही में ग्रस्त हुए थे। बाकी लोग पहले से ही डायबिटीज से पीड़ित थे। रिसर्च के बाद वैज्ञानिकों का कहना है कि सामाजिकता का लोगों पर गहरा असर हुआ और उनके ग्लूकोज स्तर में काफी सुधार देखने को मिला। वैज्ञानिकों का कहना है कि जो लोग अकेले रहते हैं, उनमें 59 % लोगों में डायबिटीज का खतरा काफी रहता है।

Diabetes

बहरहाल हम यह बात पहले से ही जानते हैं कि सामाजिकता से हमारे जीवन की Quality में सुधार होता है, लेकिन अब रिसर्च में भी यह बात सिद्ध हो गई है कि इस भागती दौड़ती जिन्दगी में सोशल होना बहुत जरुरी हो गया है।

Article Tags:
·
Article Categories:
Health · Sports & Health

Leave a Reply

Shares