बदलने वाली है इंडियन फुटबॉल की तस्वीर

Written by
Football Baby League

भारत में फुटबॉल धीरे-धीरे लोकप्रिय हो रहा है। हाल ही में भारत ने FIFA Under-17 Football World Cup का सफल आयोजन करके यह भी बता दिया है कि इंडियन फुटबॉल टेकऑफ के लिए तैयार है। परेशानी की बात है कि देश का फुटबॉल टैलेंट विश्व स्तर पर पिछड़ता दिखाई दे रहा है। लेकिन अब लगता है कि भारतीय फुटबॉल फेडरेशन ने इसका इलाज खोज लिया है। दरअसल फेडरेशन भारत में “बेबी लीग” की शुरुआत करने जा रही है, ताकि कम उम्र से ही खिलाड़ियों को एक्सपोजर मिल सके और छोटे स्तर से ही देश में फुटबॉल कल्चर पनप सके।

क्या है बेबी लीग

भारत में फुटबॉल टैलेंट की कमी नहीं है, लेकिन शुरुआत में ही फुटबॉलरों को गाइडेंस नहीं मिलने के कारण हमारे युवा कहीं ना कहीं पीछे छूट रहे हैं, जिसकी भरपाई करना मुश्किल हो रहा है। यह पिछड़ापन फिटनेस या तकनीक, किसी के भी स्तर पर हो सकता है। ऐसे हालात में All India Football Federation में प्लेयर डेवलेपमेंट के हेड “रिचर्ड हुड” एक आइडिया लेकर आए हैं। जिसके तहत देश में कम उम्र के बच्चों की लीग शुरु की जाएगी, जिसे “बेबी लीग” का नाम दिया जाएगा।

Football Baby League

इस  लीग में Under- 8, Under- 10 और Under- 12 उम्र के बच्चे हिस्सा लेंगे। बता दें कि इस लीग में कम से कम 6 साल तक के खिलाड़ी हिस्सा ले सकेंगे। इस लीग के पहले सीजन का आयोजन मिजोरम के फुटबॉल प्रेमी जिले “चामफाई” में किया जाएगा। इस बेबी लीग का आयोजन मिजोरम फुटबॉल फेडरेशन कर रही है, जिसे फंडिंग उत्तर पूर्व के विकास में जुटी निजी संस्था 8One Foundation कर रही है। इस लीग में हर एजग्रुप की 12 टीमें हिस्सा लेंगी, जोकि एक सीजन में कुल 594 मैच खेलेंगी।

इस लीग की खास बात है कि इस लीग की हर टीम में एक खिलाड़ी लड़की होनी जरुरी है। ऐसे में यह लीग जहां बच्चों में फुटबॉल को लेकर दीवानगी जगाएगी, वहीं महिला फुटबॉल खिलाड़ियों को भी इससे फायदा होगा। हालांकि अभी यह लीग अपने शुरुआती चरण में है और इसके फायदे देर से दिखाई देंगे। लेकिन उम्मीद की जा रही है कि यह बेबी लीग भारत में फुटबॉल की तस्वीर बदलने में अहम किरदार अदा करेगी।

Article Categories:
Sports

Leave a Reply

Shares