वर्ल्ड चैम्पियन इंग्लैंड 10 दिन में अर्श से फर्श पर : लॉर्ड्स में ही आयरलैण्ड के खिलाफ 85 रन में ऑल आउट

Written by

अहमदाबाद, 24 जुलाई 2019 (युवाPRESS)। अभी 14 जुलाई को ही वर्ल्ड चैम्पियन बनी इंग्लैंड की क्रिकेट टीम 10 दिन के भीतर ही अर्श से फर्श पर आ गिरी। वह भी लॉर्ड्स के उसी मैदान पर, जहाँ उसने ICC की WORLD CUP TROPHY उठाई थी, उसी मैदान पर वह आयरलैण्ड की टीम के सामने मात्र 85 रन में ऑल आउट हो गई।

पहले दिन के पहले सत्र में ही ऑल आउट हो गई इंग्लिश टीम

लॉर्ड्स के मैदान पर इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच एकमात्र टेस्ट मैच 24 जुलाई को आयोजित हुआ। इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। हालांकि वर्ल्ड चैंपियन टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और टेस्ट में डेब्यू कर रहे जेसन रॉय मात्र 5 रन बनाकर आउट हो गये। इसके बाद जो डेनली और रोरी बर्न्स ने दूसरे विकेट के लिये 28 रन की भागीदारी जरूर की, परंतु 36 रन पर ही दूसरी विकेट गँवाने के बाद वर्ल्ड चैंपियन टीम ऐसी लड़खड़ाई कि अगले 7 रन में उसने और 5 विकेट गँवा दिये। इस प्रकार उसके 43 रन पर ही उसके 7 विकेट गिर गये। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए बोलिंग ऑल राउण्डर सेम करन ने अपनी टीम की पारी को सँभालने का प्रयास किया और ओली स्टोन के साथ मिलकर टीम के स्कोर में 37 रन और जोड़े। सेम करन ने 18 और ओली स्टोन ने 19 रन बनाये। दोनों ने मिलकर टीम के स्कोर को 85 रन तक पहुँचाया। उनके आउट होने के बाद टीम का स्कोर 23.4 ओवर में 85 रन पर सिमट गया। इंग्लिश टीम में सबसे ज्यादा जो डेनली ने 23 रन बनाए। उनके बाद सेम करन और ओली स्टोन ही ऐसे बल्लेबाज रहे जो दहाई का आँकड़ा छू सके।

आयरलैंड की घातक गेंदबाजी, टिम मुर्ताग ने 13 रन देकर 5 विकेट लिये

आयरलैंड की ओर से तेज गेंदबाज टिम मुर्ताग ने घातक गेंदबाजी का प्रदर्शन किया और 9 ओवर में मात्र 13 रन देकर 5 विकेट लिये। वहीं उनके जोड़ीदार मार्क आदिर ने अपने डेब्यू मैच में 32 रन देकर 3 विकेट झटके। उनके लिये यह टेस्ट डेब्यू यादगार बन गया। इसके अलावा आयरलैंड के बोएड रैंकिन ने 5 रन देकर 2 विकेट लिये। इंग्लिश टीम 4 दिन के टेस्ट मैच के पहले दिन पहले सत्र में ही ऑल आउट हो गई। अभी 10 दिन पहले ही इसी मैदान पर वर्ल्ड चैंपियन का खिताब जीतने वाली अंग्रेज टीम से उसके प्रशंसकों को ऐसे प्रदर्शन की बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी।

सबसे पहले 1902 में मात्र 15.4 ओवर में ऑल आउट हुई थी अंग्रेज टीम

टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में इंग्लिश टीम पहली बार इतने कम स्कोर पर आउट नहीं हुई है। इससे पहले वह मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 1902 में भी मात्र 15.4 ओवर में ऑल आउट हो चुकी है। इसके बाद 19.1 ओवर में पोर्ट ऑफ स्पेन में 1994 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ, 20.4 ओवर में ऑकलैंड में 2018 में न्यूजीलैंड के खिलाफ, 22.5 ओवर में मेलबर्न में ही दोबारा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1904 में और अब 23.4 ओवर में लॉर्डस में आयरलैंड के खिलाफ सबसे कम ओवर में ऑल आउट होने का रिकॉर्ड अपने नाम किया है।

Article Categories:
News · Sports · Sports & Health

Comments are closed.

Shares