ब्लॉक-चैन टेक्नोलॉजी क्या है और यह Invest के लिए सुरक्षित क्यों है?

Written by
Blockchain Technology

नई दिल्ली: Blockchain एक प्रकार की ऐसी Technology है जिसे Financial Transaction के record को स्टोर करने के लिए एक Program के रूप में Develop किया गया है। यह एक digital System की तरह कार्य करता है। इसके Program को ऐसा बनाया गया है जिसे हैक करना बहुत ही मुश्किल है। क्योंकि Hacker को डाटा बेस Hack करने के लिए एक साथ कई हजारों Computers को Hack करना पड़ेगा जो कि मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। इस प्रकार से कहा जा सकता है कि यह Invest करने के लिए एक सुरक्षित और सरल Technology है| Blockchain Technology अपने network पर एक समान जानकारी को Block करता अथार्त रखता है।

Blockchain Technology में Digital databases को फैलने की क्षमता है। अर्थात इसका Program एक Distributed Networkकी तरह कार्य करता है| Blockchain Database के सभी रिकॉर्ड एक Computer में Store नहीं होतें बल्कि 1000 Computers या लाखों Computers में बटे होते हैं| Blockchain Technology का हर एक Computer हर एक record के पूरी इतिहास को बता सकता है| इसका Database Encrypted है और secret तरीके से Enter किया गया है|

Blockchain एक फाल्ट टोलेरंट (fault Tolerant) भी है अर्थात इस Technology में यदि एक Computer खराब भी हो जाता है तब भी इसका system काम करता रहता है| यदि इसमें कोई भी नई चीज को record करना हो तो इसके लिए कई साझेदारों (Computers) की स्वीकृति लेनी पड़ेगी।

Blockchain का पहला उपयोग साल 2008 में किया गया था जब Bitcoin नामक एक Digital currency का invention हुआ था। Blockchain का प्रयोग केवल Bitcoin के लिए ही नहीं किया जा सकता, बल्कि कहीं भी कर सकते हैं जहां एक भरोसा और गारंटी के लिए एक बिचौलिय की जरूतर पड़ती हो। वैसे कह सकते हैं कि Bitcoin Blockchain Technology का एक सर्वोत्तम उदाहरण है।

Blockchain के Security Features को देखते हुए कह सकते हैं कि cyber crime और hacking इसका कुछ भी नहीं बिगाड़ सकते। भारत में आंध्रप्रदेश और तेलंगाना राज्य में pilot project के तौर पर Blockchain Technology की शुरुआत हो चुकी है ।

देखा जाये तो Blockchain Technology का प्रयोग शिक्षा में भी हो किया जा सकता है। छात्रों को कागजी Certificates के स्थान पर Blockchain द्वारा बनाई गई Certificates दी जा सकती है। इससे जाली Certificates की समस्यां से बचा जा सकता है।

Blockchain Technology का प्रयोग इन क्षेत्रों में भी किया जा सकता हैं –

  1. शिक्षा विभाग
  2. सूचान प्रौद्योगिकी और डाटा प्रबंधन
  3. गेमिंग प्रणाली
  4. शेयर बाजार और कमोडिटीज
  5. सरकार और संगठनात्मक प्रशासन
  6. सामाजिक नेटवर्क
  7. रियल एस्टेट
  8. डिजिटल पहचान और प्रमाणीकरण
  9. सामुदायिक सेवा
  10. मीडिया और बाजार
  11. नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर
  12. ई–वोटिंग

Leave a Reply

Shares