हुनर उम्र का मोहताज नहींः 14 साल के बच्चे ने की गुजरात सरकार के साथ 5 करोड़ की डील

Anti landmine drone

हुनर उम्र का मोहताज नहीं होता है। इसे साबित कर दिखाया है गुजरात के हर्षवर्धन जाला ने। हर्षवर्धन जाला की उम्र मात्र 14 साल है।इस उम्र में उन्होंने Anti landmine drone के लिए गुजरात सरकार के साथ 5 करोड़ का MoU साइन किया है। यह ड्रोन पहले Landmine को डिटेक्ट करेगा फिर उसे Defuse भी करेगा।

Anti landmine drone प्रोजेक्ट पर कर रहे हैं काम

अपने इस प्रोजेक्ट को लेकर हर्षवर्धन कहते हैं कि, Landmine में सैनिकों के मारे जाने की खबर सुनकर मुझे बहुत दुख होता था। इसलिए मैंने Anti landmine प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया। Landmine डिटेक्ट करने के लिए पहले मैंने एक Robot तैयार किया था। लेकिन ज्यादा Weight के चलते Landmine डिटेक्ट करने के दौरान Robot ब्लास्ट कर सकता था। इसलिए मैंने रोबोट(Robot) की जगह ड्रोन प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया।

Landmine पता लगाना होगा आसान

इस ड्रोन को लेकर हर्षवर्धन बताते हैं कि इसमें हाई रिजॉल्यूशन कैमरा, RGB सेंसर, इंफ्रारेड और थर्मल मीटर लगा हुआ है। कैमरे के जरिए तस्वीर भी ली जा सकती है। ड्रोन जमीन से 2 फीट की ऊंचाई पर उड़ते हुए 8 स्क्वायर मीटर में तरंग भेजेगा। इस तरंग के जरिए लैंड माइन(Landmine) का पता लगाया जाएगा। लैंड माइन (Landmine)को ब्लास्ट करने के लिए ड्रोन 50 ग्राम वजनी बम भी ढो सकता है। इस प्रोजेक्ट पर काम जारी है। हर्षवर्धन को पूरी उम्मीद है कि उनका ड्रोन सिक्योरिटी एजेंसी के टेस्ट को पास करेगा और आने वाले दिनों में सैकड़ों सैनिकों की जान बचाई जा सकेगी।

Vibrant Gujarat Summit में गुजरात सरकार के साथ 5 करोड़ का MoU

बता दें कि Vibrant Gujarat Summit में हर्षवर्धन के साथ गुजरात सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने 5 करोड़ का MoU साइन किया है। इस प्रोजेक्ट के फाइनल स्टेज में भी गुजरात सरकार ने 5 लाख की आर्थिक मदद दी है। प्रोजेक्ट कंप्लीट होने के बाद इस ड्रोन के कमर्शियल प्रोडक्शन के लिए यह करार किया गया है। हर्षवर्धन ने Aerobatics 7 नाम से अपनी कंपनी भी खोली है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *