भारत में Blockchain technology के क्षेत्र में अपार संभावनाएं

Written by
know everything about Blockchain technology. Huge scope in this field. Blockchain is a decentralized, peer to peer, immutable storage network. ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी,

Bitcoin की सफलता के बाद Blockchain technology के सफल प्रशिक्षण सामने आने लगे हैं, ऐसे में भारत भी पीछे नही है। Young entrepreneur, IK Sharma ने एक इंटव्यू के दौरान कहा कि वे बहुत जल्द Blockchain technology research center की शुरुआत करने जा रहे हैं।इस प्रोजेक्ट के लिए दुनियाभर के 25 Blockchain technology Professionals को एक प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा। इस टीम के जरिए IK Sharma ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से संबंधित एक Research and development सेंटर विकसित करना चाहते हैं। बातचीत के दौरान उभरते हुए Entrepreneur IK Sharma ने बताया कि ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के जरिए हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा।

Blockchain technology के बारे में फ्री ट्रेनिंग

know everything about Blockchain technology. Huge scope in this field. Blockchain is a decentralized, peer to peer, immutable storage network. ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी,

इस Training and Reserch Centre में युवाओं को मुफ्त में Blockchain technology के बारे में जानकारी दी जाएगी। IK Sharma एक सफल बिजनेसमैन हैं जिनका मानना है कि युवाओं को Employee बनने के बजाए Employer बनने पर फोकस करना चाहिए। उन्होंने कई Startups में इंवेस्ट किया है। जो युवा E-Commerce और Technology से जुड़े फील्ड में कुछ नया करना चाहते हैं, IK Sharma उनकी हर तरह से मदद करते हैं। गौरतलब है कि वर्तमान में पूरे विश्व में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी को जबरदस्त रिस्पांस मिल रहा है।

What is Blockchain technology ?

(Blockchain is a decentralized, peer to peer, immutable storage network which is censor free and regulator free because of the absence of one single controlling entity.)

Blockchain technology को आसानी से समझने के लिए इसे आपको एक कहानी के रूप में बताते हैं। उम्मीद करते हैं कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपके सारे सवालों के जवाब मिल जाएंगे।

 

1). उदाहरण के तौर पर A ने B से कुछ रुपए लिए। B ने एक पेपर पर लेनदेन की तारीख, अमाउंट और लेनदार समेत तमाम जानकारी लिखकर रख लिया। कुछ वक्त बाद A ने उस दस्तावेज को मानने से इंकार कर दिया। (Here A and B are two nodes and transaction is called peer to peer).

2). एक स्टेप आगे बढ़ते हैं। इसी तरह की लेनदेन अब अगर सैकड़ों, हजारों लोगों के बीच होने लगे, तो सारी जानकारी एक Common database में नोट की जाएगी। सबकुछ सही चल रहा है लेकिन, अगर वह डेटाबेस चोरी हो जाए तो लेनदेन का कोई हिसाब नहीं रह जाएगा। (This is called single point of failure).

3). इस समस्या से बचने के लिए distributed database सिस्टम लाया गया। इसमें एक ही तरह के कई डेटाबेस बनाए गए। चूंकि डेटाबेस कुछ लोगों के पास होगा ऐसे में वे आपसी सहमति के साथ डेटा से छेड़छाड़ कर सकते हैं। (This is the problem with distributed databases because they are centralized).

4). Centralized database की समस्या से निजात पाने के लिए डेटाबेस को decentralized करने का फैसला लिया गया। Decentralized databases में हर किसी के पास सभी ट्रांजैक्शन की जानकारी होगी। अगर सिस्टम में 50 लोग हैं और कोई भी दो शख्स ट्रांजैक्शन करते हैं तो ट्रांजैक्शन की जानकारी 50 लोगों के पास होगी। ऐसा करने से कोई भी डेटा के साथ छेड़छाड़ नहीं कर पाएगा।

5). अब सभी ट्रांजैक्शन Transparent और सुरक्षित हैं। साथ ही सिस्टम को इस तरह से तैयार किया गया है कि किसी भी ट्रांजैक्शन की जानकारी को हटाया नहीं जा सकेगा। (Now database is immutable).

6). अगर बाहर का कोई शख्स डेटाबेस के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश करताा है, तो उसे सिस्टम के सभी लोगों के डेटा के साथ एकसाथ छेड़छाड़ करनी होगी, जो नामुमकिन जैसा है। सिस्टम को जैसे ही पता चलेगा कि fraudulent transaction की कोशिश हो रही है, तो उस ट्रांजैक्शन को सिस्टम में आने से रोक दिया जाएगा।

 

इस पूरी प्रॉसेस पर गौर करें तो यह एक चेन जैसा है जो decentralized, immutable database है। इसी टेक्नोलॉजी को Blockchain technology कहते हैं।

Article Categories:
Indian Business · Startups & Business

Leave a Reply

Shares