Monday, June 21, 2021
26 °c
Denpasar
26 ° Sat
26 ° Sun
25 ° Mon
26 ° Tue

Tag: Mahatma Gandhi

बीना दास, जिन्होंने भरी सभा में भाषण देने खड़े हुए ब्रिटिश गवर्नर पर गोली चला दी…

बीना दास, जिन्होंने भरी सभा में भाषण देने खड़े हुए ब्रिटिश गवर्नर पर गोली चला दी…

रिपोर्ट : तारिणी मोदी अहमदाबाद 26 दिसंबर, 2019 युवाPRESS। बंगाल की भारतीय क्रांतिकारी और राष्ट्रवादी महिला बीना दास की क्रांतिकारी गाथा किसी शेरनी से कम नहीं लगती। भरी सभा में ...

धर्म-अध्यात्म का जानकार ‘रामचंद्र’ कैसे बना नाथूराम और क्यों गोडसे के रूप में ‘कुख्यात’ हुआ ? जानिए पूरी कहानी

धर्म-अध्यात्म का जानकार ‘रामचंद्र’ कैसे बना नाथूराम और क्यों गोडसे के रूप में ‘कुख्यात’ हुआ ? जानिए पूरी कहानी

आलेख : कन्हैया कोष्टी अहमदाबाद 28 नवंबर, 2019 (युवाPRESS)। कोई भी व्यक्ति जब कोई कर्म करता है, तो उस पर तीन गुणों में से किसी एक गुण का सर्वोच्च प्रभाव ...

मीरा’ की महिमा : जिसने भी सार्थक किया यह नाम, उसने पा लिया श्याम….

मीरा’ की महिमा : जिसने भी सार्थक किया यह नाम, उसने पा लिया श्याम….

रिपोर्ट : तारिणी मोदी अहमदाबाद, 22 नवंबर, 2019 (युवाPRESS)। मीरा अर्थात् भक्ति का दूसरा नाम। मीरा नाम लेते ही भगवान श्री कृष्ण प्रेम दीवानी मीराबाई का ही स्मरण हो आता ...

बापू के सब्जी काटते देखा और साधु बनने निकला यह युवक सत्याग्रही बन गया…

बापू के सब्जी काटते देखा और साधु बनने निकला यह युवक सत्याग्रही बन गया…

आलेख : तारिणी मोदी अहमदाबाद, 15 नवंबर 2019 (युवाPRESS)। अनंत काल तक भारत में उन सभी महान देश भक्तों की गाथाएँ गूँजती रहेंगी, जिन्होंने माँ भारती के तिरंगे को अपने ...

‘बा’ ने कहा और ठहर गई इस गाँव की जनसंख्या

‘बा’ ने कहा और ठहर गई इस गाँव की जनसंख्या

रिपोर्ट : तारिणी मोदी अहमदाबाद, 13 नवंबर, 2019 (युवाPRESS)। ‘बा’ गुजराती में अपनों से बड़ी आयु की महिलाओं के लिए प्रयोग किया जाने वाला सम्मानजनक संबोधन है। यही कारण है ...

‘वल्लभ’ ही नहीं, ‘विट्ठल’ की दहाड़ से भी थर्राता था अंग्रेजी साम्राज्य

‘वल्लभ’ ही नहीं, ‘विट्ठल’ की दहाड़ से भी थर्राता था अंग्रेजी साम्राज्य

आलेख : तारिणी मोदी अहमदाबाद, 22 अक्टूबर, 2019 (युवाPRESS)। भारत में एक युद्ध द्वापर युग में लड़ा गया, जो महाभारत का युद्ध कहलाया। पाँच हजार वर्ष पूर्व हुए उस भीषण ...

बरसती रही गोलियाँ, परंतु न रुका ‘वंदे मातरम्’ का उद्घोष और न ही हाथ से छूटा ‘तिरंगा’

बरसती रही गोलियाँ, परंतु न रुका ‘वंदे मातरम्’ का उद्घोष और न ही हाथ से छूटा ‘तिरंगा’

आलेख : तारिणी मोदी अहमदाबाद, 19 अक्टूबर, 2019 (युवाPRESS)। बंगाल शब्द सुनते ही हमारे मस्तिष्क में एक बांग्लादेश राष्ट्र और दूसरे भारतीय राज्य पश्चिम बंगाल की छवि उभर आती है, ...

पेरीस ने बदली दी पेरीन की दिशा और कूद पड़ीं स्वतंत्रता आंदोलन में

पेरीस ने बदली दी पेरीन की दिशा और कूद पड़ीं स्वतंत्रता आंदोलन में

अहमदाबाद, 12 अक्टूबर, 2019 (युवाPRESS)। हिन्दुस्तानी भाषा के प्रचार-प्रसार में अग्रणी संस्था ‘हिन्दुस्तानी प्रचार सभा’ की स्थापना 1942 में महात्मा गांधी ने अंग्रेजों भारत छोड़े की घोषणा के साथ ही ...

एक और अद्वितीय गांधी : ‘अहिंसा को जब कायरता समझा जाए, तो मैं हिंसा का ही चुनाव करूँगा…’

एक और अद्वितीय गांधी : ‘अहिंसा को जब कायरता समझा जाए, तो मैं हिंसा का ही चुनाव करूँगा…’

आलेख : कन्हैया कोष्टी अहमदाबाद 2 अक्टूबर, 2019 (युवाPRESS)। भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान अखंड भारत में चहुँओर गांधी की गूंज थी। उसके एक आह्वान पर पूरा देश चल पड़ता ...

क्या महात्मा गांधी को यह उपाधि दिलवाएँगे मोदी, जो उनकी 150वीं जयंती पर अविस्मरणीय श्रद्धांजलि बन जाए ?

क्या महात्मा गांधी को यह उपाधि दिलवाएँगे मोदी, जो उनकी 150वीं जयंती पर अविस्मरणीय श्रद्धांजलि बन जाए ?

* लोग मानते हैं, पर भारत सरकार नहीं मानती महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता !!! * 4 जून, 1944 को पहली बार बोस ने महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता कहा था * ...

महात्मा गांधी ही रहेंगे राष्ट्रपिता : ट्रम्प ने जिस संदर्भ में मोदी को ‘FATHER OF INDIA’ कहा, वह सटीक और कटु सत्य है

महात्मा गांधी ही रहेंगे राष्ट्रपिता : ट्रम्प ने जिस संदर्भ में मोदी को ‘FATHER OF INDIA’ कहा, वह सटीक और कटु सत्य है

* मोदी का ‘सबका साथ-सबका विकास’ का यथार्थ क्रियान्वयन उन्हें ‘फादर ऑफ इंडिया’ बनाता है * मोदी का धर्म-जाति-पंथ-प्रांत से ऊपर उठ कर वोट पाना उन्हें ‘फादर ऑफ इंडिया’ बनाता ...

हिन्दी का दुर्भाग्य : 15 वर्षों की प्रतीक्षा कैसे बन गई सदियों की प्रतीक्षा ? मोदी दिलाएँगे ‘राष्ट्रभाषा’ का सम्मान ?

हिन्दी का दुर्भाग्य : 15 वर्षों की प्रतीक्षा कैसे बन गई सदियों की प्रतीक्षा ? मोदी दिलाएँगे ‘राष्ट्रभाषा’ का सम्मान ?

* वर्तमान भारत में हिन्दी के सबसे बड़े प्रचारक हैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी * हिन्दी ने ही मोदी को देश के सर्वोच्च प्रधानमंत्री पद तक पहुँचाया * अंतरराष्ट्रीय मंचों पर ...

एक थे ‘नेताजी’, जो अंग्रेजों के विरुद्ध दहाड़ते हुए अचानक लुप्त हो गए…

एक थे ‘नेताजी’, जो अंग्रेजों के विरुद्ध दहाड़ते हुए अचानक लुप्त हो गए…

आलेख : कन्हैया कोष्टी अहमदाबाद 18 अगस्त, 2019 (युवाPRESS)। नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने अपना पूरा जीवन भारत की स्वतंत्रता के लिए खपा दिया, परंतु स्वतंत्र भारत में बनी सरकारों ...

सोनिया गांधी व राहुल गांधी। (फाइल चित्र)

काश ! कांग्रेस यह ‘साहस’ कर जाती, तो मिल सकता था 61वाँ ‘कायाकल्पी’ अध्यक्ष !

* 1885 में सेवानिवृत्त ब्रिटिश अधिकारी ह्यूम ने बनाई थी कांग्रेस * 1919 में मोतीलाल के साथ हुई कांग्रेस में नेहरू परिवार की एंट्री * 1925 में मोहनदास के साथ ...

ज़रा याद करो क़ुर्बानी : जब ‘अमदावादियों’ ने अंग्रेजी हुक़ूमत को हिला कर रख दिया…

ज़रा याद करो क़ुर्बानी : जब ‘अमदावादियों’ ने अंग्रेजी हुक़ूमत को हिला कर रख दिया…

* आज जो हम SUNDAY ENJOY करते हैं, उसकी नींव 77 साल पहले पड़ी थी * महात्मा गांधी ने किया ‘अंग्रेजों, भारत छोड़ो’ आंदोलन का सूत्रपात * अहमदाबाद ने भी ...

वो आज़ाद थे और आज़ाद ही रहे : अंग्रेजों के कभी हाथ नहीं आया यह क्रांतिकारी !

वो आज़ाद थे और आज़ाद ही रहे : अंग्रेजों के कभी हाथ नहीं आया यह क्रांतिकारी !

विनीत दुबे अहमदाबाद, 23 जुलाई 2019 (युवाPRESS)। जब भारत अंग्रेजों की गुलामी का दंश झेल रहा था, उस समय देश को गुलामी की जंजीरों से आज़ाद कराने के लिये यूँ ...

जिसका सान्निध्य आपको सिद्ध करता है भारतीय, उसका आज है BIRTH DAY : सिर झुका कर कीजिए SALUTE !

जिसका सान्निध्य आपको सिद्ध करता है भारतीय, उसका आज है BIRTH DAY : सिर झुका कर कीजिए SALUTE !

कन्हैया कोष्टी अहमदाबाद, 22 जुलाई, 2019 (युवाPRESS)। किसी भी देश के स्वाभिमान का चिह्न उसका राष्ट्र ध्वज होता है। भारत का भी अपना एक राष्ट्र ध्वज है, जो पूरे विश्व ...

वह अफ्रीका था, जहाँ महात्मा गांधी को चलती ट्रेन से फेंका गया, पर यह तो इटावा था, फिर भी…?

वह अफ्रीका था, जहाँ महात्मा गांधी को चलती ट्रेन से फेंका गया, पर यह तो इटावा था, फिर भी…?

रिपोर्ट : विनीत दुबे अहमदाबाद, 8 जुलाई 2019 (युवाप्रेस डॉट कॉम)। देश जब गोरों की गुलामी झेल रहा था, तब दक्षिण अफ्रीका में गांधीजी का ट्रेन में अपमान हुआ था, ...

EXCLUSIVE : PM नरेन्द्र मोदी को क्यों लुभाते हैं कांग्रेस के ये ‘गांधी-सरदार’ ?

EXCLUSIVE : PM नरेन्द्र मोदी को क्यों लुभाते हैं कांग्रेस के ये ‘गांधी-सरदार’ ?

* क्यों प्रणव दा और मनमोहन को सिर-मत्थे बैठाते हैं मोदी ? * नेहरू-इंदिरा को कभी नहीं, पर राव को श्रद्धांजलि देना क्यों नहीं भूले मोदी ? * कांग्रेस ने ...

सिर्फ 87 हजार किसानों का ‘नेता’ कैसे बन गया 27 करोड़ लोगों का ‘सरदार’ ?

सिर्फ 87 हजार किसानों का ‘नेता’ कैसे बन गया 27 करोड़ लोगों का ‘सरदार’ ?

आलेख : कन्हैया कोष्टी अहमदाबाद, 12 जून, 2019। हर भूत भविष्य की नींव रखता है। कौन जानता था वर्ष 1927 में तत्कालीन बम्बई सरकार के अधीनस्थ सूरत जिले की बारडोली ...

नमो का नमन : यह तीन कार्य कर नरेन्द्र मोदी बन गए देश के ऐसे पहले प्रधानमंत्री…

नमो का नमन : यह तीन कार्य कर नरेन्द्र मोदी बन गए देश के ऐसे पहले प्रधानमंत्री…

...जिन्होंने बापू-अटल को एक साथ याद कर सिद्ध किया, ‘दल से ऊपर देश’ ...जिनके हाथों अनायास ही कांग्रेस और भाजपा दोनों दलों के नेताओं को दी गई श्रद्धांजलि ! ...जिन्होंने ...

Page 1 of 2 1 2

Welcome Back!

Login to your account below

Create New Account!

Fill the forms below to register

Retrieve your password

Please enter your username or email address to reset your password.

Add New Playlist

Are you sure want to unlock this post?
Unlock left : 0
Are you sure want to cancel subscription?