सड़क पर घूमते बच्चों को भीख देते हैं तो ये Video जरुर देखें

Written by

Child Trafficking आज पूरी दुनिया के लिए गंभीर समस्या बन चुकी है। विकासशील और गरीब देशों में यह समस्या और भी ज्यादा खतरनाक है। हालांकि विभिन्न देशों में इसके खिलाफ कड़े कानून हैं, लेकिन इसके बावजूद सरकारें इस पर लगाम लगाने में अभी तक असफल हुई हैं। इसी का नतीजा है कि आज Child Trafficking का अवैध कारोबार सालाना 150 बिलियन डॉलर (HumanRightsFirst.Org के मुताबिक) को पार कर चुका है और ये अभी और तेजी से बढ़ता जा रहा है।

क्या है Child Trafficking

चाइल्ड ट्रैफिकिंग या कहें कि बच्चों का अवैध व्यापार Human Trafficking का ही एक हिस्सा है। जिसमें बच्चों को चुराकर उनसे उनका शोषण किया जाता है। इस दौरान बच्चों से भीख मंगवाने, Child Labour, Sexual Exploitation जैसे काम कराए जाते हैं। आंकड़ों की बात करें तो दुनिया भर में 24.9 मिलियन लोग Human Trafficking में फंसे हुए हैं।

Child Trafficking

#No More Missing कैम्पेन

भारत में भी हर साल लाखों बच्चें Child Trafficking की भेंट चढ़ जाते हैं। हालांकि अब इसके खिलाफ लोगों के बीच जागरुकता भी फैलायी जा रही है। सोशल मीडिया इस मामले में बड़ा रोल निभा रहा है। बता दें कि सोशल मीडिया पर No More Missing के नाम से कैम्पेन चलाया जा रहा है। इस कैम्पेन की शुरुआत साल 2015 में की गई थी, जिसके साथ आज बड़ी संख्या में लोग जुड़ चुके हैं।

No More Missing कैम्पेन का एक वीडियो आजकल सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में अपील की गई है कि जब भी किसी को सड़क पर या कहीं भी बच्चे भीख मांगते हुए दिखाई दें तो उन्हें कभी भी पैसे ना दें। दरअसल ऐसे बच्चों को पैसे देकर कहीं ना कहीं हम Child Trafficking को बढ़ावा दे रहे हैं। इसलिए ऐसे बच्चों को पैसे के बजाए खाना दें और उनकी फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर अपलोड करें। इस तरह आपकी कोशिशों से कोई बिछड़ा हुआ बच्चा अपने घरवालों से मिल सकता है।

Child Trafficking

सोशल मीडिया आज बहुत बड़ी ताकत बन चुका है और #NoMoreMissing जैसी कैम्पेन इस ताकत का बखूबी इस्तेमाल कर रहे हैं। इसलिए जागरुक बनें और Child Trafficking को रोकने में सहयोग दें।

Article Categories:
News · Youth Corner · Yuva Exclusive

Leave a Reply

Shares