सरकारी नौकरी पाना है तो 5 साल सरहद पर बिताना पड़ेगा

Written by
Compulsory Military Service

नई दिल्ली – दिन – रात सरध पर मोजूद भारतीय सेना अपनी जान की बाजी लगाकर, अपने माँ – बांप, घर परिवार से दूर अपने देश के प्रति भाव होने के कारण देश की सेवा में लगे रहते है। यदि आप सरकार की नौकरी करना चाहते हैं, तो 5 साल बॉर्डर पर खर्च करना होगा, अथार्त आपको 5 साल सरहद पर नोकरी (Compulsory Military Service) करनी पड़ेगी। इससे आपका स्वस्थ्य भी बना रहेगा और देश में जो सैनिको की कमी है उसकी भी भरपाई हो जायेगी।

हर वर्ष पोस्ट ग्रेजुएट, ग्रेजुएट,12वीं, 10वीं के लिए सरकारी नौकरी के लाखो संख्या में आवेदन होते है। जिसमे पुलिस, रेलवे, मेट्रो आदि आते हैं। लेकिन लाखो संख्या में से इनके आधे भी आवेदन भारतीय सेना में नही आते। सरकारी जॉब पाना तो अब हर कोई चाहता है, लेकिन देश की सेवा करना कोई नही चाहता। भारतीय सेना में घटती नौकरी अपने आप में ही एक बहुत बड़ा चिंता का विषय बन चुका है। बजट सत्र में एक बार फिर से संसद में Indian Army में नौकरी पाने वाले  सैनिको का यह मुदा (Compulsory Military Service) गरमाया हुआ है।

सरकार द्वारा Indian Army सेना की कमी पूरी करने का यह मकसद अथार्त Compulsory Military Service बहुत अच्छा रहेगा।सरकार के निर्णय के अनुसार सरकारी नौकरी करने से पहले हर एक युवओं को 5 वर्ष सरहद पर भारतीय सेना की सर्विस में तैनात रहना होगा। भारतीय सेना में तैनात रहने से न केवल India Army  की कमी पूरी होगी बल्कि जहाँ सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों को देरी से काम करने कि आदत हो होती है, जनता को एक काम के लिए दस चक्कर लगाने पड़ते हैं, उसी और दिन – रात सरध पर रहने से सभी सेना कराम्चारियो (employees) में आलस की जगह फुर्ती रहेगी। सरकार की यह पहल भारतीय सेना को बढने के साथ साथ देश की तरिक्की की और भी कदम है। 5 साल सरकारी नौकरी से पहले भारतीय सेना में रहने से भारत देश की सेना की संख्या अन्य देशो में सबसे अधिक रहेगी और देश आतंकियों से मुक्त भी रहेगा। सरकार द्वारा आर्मी को दिए गये बजट कि जांच स्थायी समिति के द्वारा की गयी है। यह Indian Army को दिए जाना वाला सबसे कम बजट है।

Article Categories:
Jobs · News · Youth Corner · Youth Icons · Yuva Exclusive

Leave a Reply

Shares