PM ‘eVIDYA’ से पढ़ेगा भारत, आगे बढ़ेगा भारत

Written by

विश्व भर में फैली हुई महामारी Coronavirus के कारण शिक्षा पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है। सभी स्कूल, कॉलेज, इंस्टिट्यूशन बंद पड़ी है और शिक्षकों और विद्यार्थियों को घर रहने पर मजबूर होना पड़ रहा है । इस महामारी के कारण चाह कर भी विद्यार्थियों को पढ़ाई करने में बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। PM Narendra Modi द्वारा घोषित Economic Package का ब्यौरा देते हुए Finance Minister Nirmala Sitaraman ने ‘eVIDYA’ प्रोग्राम के बारे में बताया जिसके तहत विद्यार्थियों को घर में बैठे हुए शिक्षा प्रदान की जाएगी। PM eVIDYA कार्यक्रम में सभी श्रेणियों के लिए `Diksha` शामिल है जिसमें e-content and QR coded energized Textbooks शामिल हैं और इसे ‘One Nation, One Digital Platform’ कहा जाएगा। इससे बच्चों को पढ़ने के लिए जरूरी Study Material भी मिल जाएगा और उन्हें किताबों की जरूरत भी नहीं पड़ेगी।

इससे विद्यार्थियों के वक्त की हो रही क्षति की भरपाई करने का प्रयास किया गया है। सरकार द्वारा उठाए गए इस कदम से बहुत से विद्यार्थियों को मदद मिलेगी। इस Economic Package में बताया गया कि eVIDYA प्रोग्राम जल्द ही जारी किया जाएगा। इस प्रोग्राम के तहत 100 universities 30 मई से अपनी Online Classes शुरू कर सकेंगीं। इसके अलावा “One Class, One Channel” के तहत टीवी चैनल्स भी शुरू किए जाएंगे जिसमें कक्षा एक से बारहवीं तक के लिए एक-एक टीवी चैनल शुरू किया जाएगा। जिसमें अध्यापक बच्चों को अलग-अलग विषयों पर शिक्षा देंगे, इसमें Radio, Community Radio, Podcast इत्यादि उपकरणों का इस्तेमाल करके बच्चों को उचित से उचित शिक्षा देने का प्रयास किया गया है। नेत्रहीन और श्रवण बाधित  बच्चों के लिए विशेष की सामग्री तैयार की जाएगी जिससे उन्हें भी शिक्षा प्राप्त करने में कोई परेशानी ना हो।

यह सरकार द्वारा उठाए गए सबसे बढ़िया कदमों में से एक है जो राष्ट्र को ज्यादा से ज्यादा शिक्षित बनाने में सक्षम बनाएगा। Nirmala Sitaraman ने  आर्थिक पैकेज का ब्यौरा देते हुए बताया कि “Swayam Prabha DTH Channels उन लोगों तक पहुंच गया है जिनके पास इंटरनेट तक पहुंच नहीं है और 24 मार्च से DIKSHA प्लेटफॉर्म पर 61 करोड़ हिट हो चुके हैं।”

इसके अलावा Manodarpan को जल्दी ही launch किया जाएगा, यह Lockdown के चलते बच्चों और उनके अभिभावकों पर पड़ रहे मानसिक तनाव को दूर करने के लिए है। यह उनकी मानसिक स्वास्थ्य और भावनात्मक भलाई के लिए बनाया गया है।

स्कूल के लिए नए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम और शैक्षणिक ढांचा, बचपन और शिक्षकों को भी गति में स्थापित किया जाएगा।

मंत्रालय ने कहा कि National Foundational Literacy and Numeracy Mission यह सुनिश्चित करने के लिए लागू  किया जायेगा कि 2025 तक प्रत्येक बच्चे को पाँचवीं कक्षा में सीखने के स्तर और परिणाम प्राप्त हो। यह इस साल दिसंबर तक निर्धारित किया जाएगा।

Article Categories:
News · Youth Corner

Comments are closed.

Shares